Corona Virus se Bachav ke Tarike In Hindi | कोरोना वायरस से बचाव के तरीके

Corona Virus se Bachav ke Tarike In Hindi.  चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस का प्रकोप धीरे-धीरे दुनिया के कई देशों में फैल चुका है। यह वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में संक्रमित होता है। लेकिन हाल ही वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन तरफ से इस बात की पुष्टि हो गई है कि यह वायरस ह्यूमन टु ह्यूमन ट्रांसफर होता है।

कोरोना वायरस दुनिया के लगभग सभी देशों में फैल चुका है। विश्व में कोरोना वायरस से करीब 10 हजार से लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 3 लाख लोग इस वायरस से संक्रमित हैं। चीन के अलावा अब दक्षिण कोरिया, ईरान, इटली, अमेरिका और फ्रांस जैसे देशों में कई लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में भी अब तक 500 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। बताया जाता है कि कोरोना वायरस जानवरों से इंसानों में आया है। शुरू में चीन के वुहान में सीफूड होलसेल मार्केट से लोगों में संक्रमण हुआ। कोरोना वायरस से बचने के लिए अब तक कोई कारगर दवा का निर्माण नहीं हो सका है, ऐसे से बचाय ही सबसे बड़ा उपाय है। इस पेज में Corona Virus se Bachav ke Tarike In Hindi में बताये गए है।

corona virus in hindi
corona virus in hindi
Contents hide
1 Corona Virus se Bachav के तरीके Symptoms of Corona Virus

Corona Virus se Bachav के तरीके Symptoms of Corona Virus

लेकिन एक बात जो इस वायरस के बारे में बहुत साफ है कि यह मीट और खासतौर पर सी-फूड खाने से संबंधित है। वैज्ञानिकों की तरफ से कहा गया है कि यह आमतौर पर पशुओं में पाया जाने वाला वायरस है लेकिन अब यह मनुष्य से मनुष्य में भी संचारित हो रहा है। इसलिए देश के बाहर जानेवाले और देश में रहनेवाले लोगों को भी सी-फूड फिलहाल ना खाने की सलाह दी जा रही है। खासतौर पर उन लोगों को जो समुद्री तटों से जुड़े क्षेत्रो में रहते हैं।

Corona Virus se Bachav

  • जितना संभव हो सके किसी भी देश की यात्रा करने के दौरान मीट खाने से बचें या बिल्कुल भी ना खाएं।
  • यात्रा के दौरान बीमार लोगों से संपर्क में न आये। अगर किसी को जुकाम, खासी, फीवर, नाक बहना जैसी दिक्कतें हैं तो ऐसे यात्रियों से दूरी बनाकर रखें।
  • जो लोग खासतौर पर चीन की यात्रा पर जा रहे हैं उनके लिए किसी भी चीज को छूने या उपयोग करने के बाद साबुन से हाथ धोना जरूरी है। साथ ही खांसते या छींकते हुए मुंह पर रुमाल रखें। हैंड सेनिटाइजर का उपयोग करते रहें।
    वे लोग कोल्ड और फीवर जैसी बीमारियों से जूझ रहे हैं, सतर्कता बरतते हुए यात्रा करे। अगर यात्रा करनी ही पड़े मास्क पहनें और खाने-पीने से संबंधी सावधानियां जरूर बरतें।
  • जो व्यक्ति दूसरे देशों की यात्रा से वापस लौट रहे हैं, उनके स्वास्थ्य की जांच के लिए सभी प्रमुख हवाई अड्डों पर कोरोना वायरस की जांच की व्यवस्था की गई है। अगर आप दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नै, बेंग्लुरु, कोच्ची, हैदराबाद एयरपोर्ट पर किसी देश की यात्रा करके लौट रहे हैं तो कोरोना वायरस की जांच के लिए आपकी स्वास्थ्य संबंधी चांज की जाएगी।
  • दुनिया के अन्य देश भी अपने यहां दूसरे देशों से आनेवाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर सेहत संबंधी चांज करा रहे हैं। यह सब कोरोना वायरस के प्रभाव को बढ़ने से रोकने के लिए किया जा रहा है। इसलिए अगर आप विदेश यात्रा के लिए जा रहे हैं तो वहां पूरी सावधानी से साथ जाये
  • यात्रा के लिए निकलने से पहले पूरी नींद लें और खाली पेट किसी सफर के लिए ना निकलें। अगर यात्रा के दौरान आपको सर्दी, गले में दर्द, नाक बहना, खांसी जैसी समस्याएं होने लगें तो आप तुरंत क्रू मेंबर्स को संपर्क करें।

Corona Virus Kya hai In Hindi

Corona Virus se Bachav ke liye Kya kare (कोरोना वायरस से बचाव के लिए क्या करे )

विश्व स्वास्थ्य संगठन और कई अन्य संगठनों द्वारा कोरोना वायरस से बचने के लिए कुछ खास बचाव के उपाय बताए हैं। 6 वर्ष से कम और 60 वर्ष से अधिक वाले ज्‍यादा सवाधान रहें। कोरोना वायरस से बचने के लिए आइये जानते हैं कि क्‍या करें और क्‍या न करें। Corona Virus se Bachav ke Tarike In Hindi

शारीरिक सम्बन्ध न बनाए
फ्रांस की सरकार एवं अन्य देशो की सरकारों ने संक्रमण से बचने के लिए लोगों से मुलाकात के परंपरागत तरीके (गाल पर चुंबन और हाथ मिलाना) में बदलाव किया है। स्वास्थ्य मंत्री ओलिवियर वेरन ने कहा कि मुलाकात के दौरान किसी भी शारीरिक क्रिया से परहेज किया जा रहा है।

साफ सफाई पर ध्यान दे

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वायरस से निपटने के लिए साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने को कहा है। इसके लिए हाथों की सफाई को प्रमुखता दी है |

सफाई के लिए अपने हाथों को लगातार धोते रहें। हाथ गंदे नहीं होने पर भी दिन में कम से कम 20 बार धोएं। धोने के बाद हो सके तो टिशू का प्रयोग करें। छींकने और खांसने के दौरान अपने मुंह पर हाथ रखें।

 विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हाथ को कब और कैसे धुलने का तरीका भी बताया है।

  • छींकने और खांसने के बाद।
  •  बीमार व्यक्ति से मुलाकात के बाद।
  • शौचालय के इस्तेमाल के बाद।
  •  खाने बनाने और खाने के बाद।
  • पशुओं को छूने के बाद।

ध्यान रखें

खांसी या छींकने पर टिशू या रुमाल का इस्तेमाल करें।

अगर कोई व्यक्ति आपके बिल्कुल पास में खांसी या छींके तो कुछ सेकेंड तक टुकड़ों में सांस लें।

छींकने और खांसने वालों से रखें दूरी

इस बात पर ध्‍यान देना है कि जो लोग छींक रहे हों, उनसे दूरी बनाकर रखें। दरअसल, सर्दी जुकाम से मिलते लक्षण कोरोना वायरस के भी हैं, ऐसे में जब कोई आपके आस-पास छींक रहा हो तो उससे दूर हट जाएं और अपने मुंह पर मास्क लागाये रखे।

चेहरे को छूने से करें परहेज

अपने चेहरे को छूने से बचना चाहिए। अपने चेहरे, नाक और आंखों को न छुएं। यदि आपके हाथ किसी दूसरे संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से संक्रमित भी हैं तो आप ऐसा करके वायरस को शरीर के अंदर पहुंचाने में मदद कर सकते हैं।

मुंह पर रखें मास्‍क 

यह बहुत आम सुरक्षा है। आम तौर पर देखा जाता है कि कई लोगों को मुंह पर मास्क लगाने से बचते हैं और उन्‍हें परेशानी महसूस होती है। कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इसे पहनना जरूरी है, जब आप अपने घर से बाहर भीड़-भाड़ वाली जगह या यात्रा करते समय अपने मुह पर मास्क जरुर लगाये रखे। डॉक्टरों के अनुसार, इससे इंफेक्‍शन का खतरा काफी कम हो जाता है। इसके लिए मास्‍क पहनने की सलाह दी जाती है।

लिफ्ट में बटन दबाने के लिए करें अंगुली का प्रयोग न करे

सिंगापुर के मेडिकल स्कूल के प्रोफेसर वांग लिन फा के मुताबिक इस वातावरण में लिफ्ट सबसे ज्यादा घातक है क्योंकि उसी बंद लिफ्ट की हवा में कई लोग सांस लेते हैं और बटन का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में उन्होंने लिफ्ट में बटन दबाने के लिए पेन का इस्तेमाल करने का सुझाव दिया। साथ ही उन्होंने शौचालय का इस्तेमाल करते समय खास सावधानी बरतने को कहा।

कमरे का तापमान ज्‍यादा रखें 

कोरोना वायरस के इंफेक्‍शन से बचने के लिए अपने कमरे का तापमान 30 डिग्री सेल्‍सियस से अधिक रखें। इससे वायरस के संक्रमण होने की कम होने संभावना होती है।

दरवाजे के हत्थे को संभलकर छुए

यूनिवर्सिटी ऑफ ग्रीफ्सवाल्ड के प्रोफेसर का कहना है कि ठोस धरातल के बार- बार इस्तेमाल से कोरोना वायरस सबसे तेजी से फैलता है। इस स्थिति में किसी धरातल को कोई संक्रमित व्यक्ति इस्तेमाल करता है और उसी को दोबारा कोई स्वस्थ व्यक्ति छूता है तो वह भी संक्रमित हो जाता है। उन्होंने कहा कि इनसे परहेज करना चाहिए या इस्तेमाल करते समय सावधानी बरतनी चाहिए।

ताजा हवा के लिए खिड़कियां खोले रखें

डॉक्टरो के अनुसार, यदि हम दरवाजे और खिडकियों को खुला रखकर ताजी हवा में सांस लें तो कोरोना वायरस की चपेट में आने से बचा जा सकता है। कोशिश करें कि आपके बेडरूम और गेस्ट रूम की दरवाजे खिड़कियां खुली रहें।

अंडा और मांस से रखें दूरी

जब कोरोना वायरस पूरी दुनिया में पैर पसार रहा है तो कोशिश करें कि अंडे और मांस से दूरी रखें। ऐसा करने से आप कोरोना वायरस के इंफेक्‍शन से बचेंगे। मोबाइल फोन एवं अपने रोजमरा की वस्तुओ का नियमित साफ करें। इसके जरिए भी इंफेक्‍शन हो सकता है।

कोरोना वायरस से बचने के लिए क्‍या न करें ( Corona Virus se Bachav ke liye Kya nahi kare ) 

यदि आपको खांसी और बुखार आ रहा हो तो लोगों से दूरी बनाए रखें।

अपनी आंख, मुंह और नाक को बार-बार न छुएं।

सार्वजनिक स्‍थानों पर थूकने से बचें।

खेतों की ओर जाने, जीवित पशुओं के बाजार में जानें से बचें।

जीवित पशुओं के संपर्क में आने और अधपके मांस को खाने को बचें।

ये लक्षण दिखे तो रहें सावधान

बुखार, खांसी और जुकाम होना

अचानक तेज बुखार होना

तेज बुखार, जुकाम और खांसी होना।

शरीर में तेज दर्द के साथ कमजोरी

लिवर और किडनी में परेशानी

सांस में तकलीफ होना

निमोनिया के लखण दिखना

पाचन क्रिया में अचानक तकलीफ होना।

ऐसा होने पर डॉक्‍टर से संपर्क करें। 

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के द्वारा बताये गए Corona Virus se Bachav ke Tarike In Hindi

  1. COVID-19 वायरस के प्रभाव से बचने के लिए सबसे जरूरी है कि आप नियमित तौर पर गुनगुना पीना पिएं।
  2. शरीर के इम्यून सिस्टम को दुरूस्त रखने के लिए आपको नियमित तौर पर उचित मात्रा में आंवला, एलोवेरा, गिलोय, नींबू आदि का जूस पीना चाहिए।
  3. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के आप पानी में तुलसी रस की कुछ बूंदें डालकर पी सकते हैं।
  4. गर्म दूध में हल्दी मिलाकर पीने से भी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है।
  5. इम्यून सिस्टम की बेहतरी के लिए आप अष्टादसांग काढ़ा, गुडूच्यादि काढ़ा , अमृतउत्तरम काढ़ा या सिरिशादी काढ़ा का सेवन करना उत्तम रहेगा।
  6. घर और आस-पास के वातावरण को स्वच्छ रखने के लिए आप नियमित तौर पर नीम की पत्तियों, गुग्गल, राल, देवदारु और दो कपूर को साथ में जलाएं। उसके धुएं को घर और आस-पास में फैलने दें।
  7. इसके अलावा आप चाहें तो गुग्गल, वचा, इलायची, तुलसी, लौंग, गाय का घी और खांड को किसी मिट्टी के पात्र में रखकर जलाएं और उसके धुएं को घर और आस-पास में फैलने दें।
  8. इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाए रखने के लिए आप नियमित तौर पर तुलसी की 5 पत्तियां, 4 काली मिर्च, 3 लौंग, एक चम्मच अदरक का रस शहद के साथ ले सकते हैं।
  9. चाय पीने के शौकीन हैं, तो आपको नियमित रूप से 10 या 15 तुलसी के पत्ते, 5 से 7 काली मिर्च, थोड़ी दालचीनी और उचित मात्रा में अदरक डालकर बनाई गई चाय पीनी चाहिए। य​ह आपको रोगों से बचने में मदद करेगी।
  10. इन सबके अलावा आपको कोरोना वायरस से बचने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के जारी किए गए दिशा निर्देशों का पालन करना चाहिए।

कोरोनवायरस वायरस (COVID-19) एक संक्रामक बीमारी है जो एक नए खोजे गए कोरोनावायरस के कारण होता है।

COVID-19 वायरस से संक्रमित अधिकांश लोग हल्के से मध्यम श्वसन बीमारी का अनुभव करेंगे और विशेष उपचार की आवश्यकता के बिना ठीक हो जाएंगे। वृद्ध लोगों, और हृदय रोग, मधुमेह, पुरानी श्वसन बीमारी और कैंसर जैसी अंतर्निहित चिकित्सा समस्याओं वाले लोगों में गंभीर बीमारी विकसित होने की अधिक संभावना है।

संचरण को रोकने और धीमा करने के लिए सबसे अच्छा तरीका है COVID-19 वायरस के बारे में अच्छी तरह से बताया गया है कि यह किस बीमारी का कारण है और यह कैसे फैलता है। अपने हाथों को धो कर या अल्कोहल आधारित रगड़ का उपयोग करके और अपने चेहरे को छूने से अपने आप को और दूसरों को संक्रमण से बचाएं।

COVID-19 वायरस मुख्य रूप से किसी संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने पर लार या नाक से निकलने वाली बूंदों से फैलता है, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आप श्वसन शिष्टाचार का भी अभ्यास करें (उदाहरण के लिए, एक लचीली कोहनी में खांसी करके)।

इस समय, COVID-19 के लिए कोई विशिष्ट टीके या उपचार नहीं हैं। हालांकि, संभावित उपचारों का मूल्यांकन करने वाले कई नैदानिक ​​परीक्षण चल रहे हैं। WHO नैदानिक ​​जानकारी उपलब्ध होते ही अद्यतन जानकारी प्रदान करना जारी रखेगा।

संक्रमण को रोकने और COVID -19 के संचरण को धीमा करने के लिए, निम्नलिखित कार्य करें:

अपने हाथों को नियमित रूप से साबुन और पानी से धोएं, या उन्हें अल्कोहल-आधारित हाथ रगड़कर साफ करें।

आपके और खांसने या छींकने वाले लोगों के बीच कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें।

अपने चेहरे को छूने से बचें।

खांसते या छींकते समय अपना मुंह और नाक ढक लें।

यदि आप अस्वस्थ महसूस करते हैं तो घर पर रहें।

धूम्रपान और फेफड़ों को कमजोर करने वाली अन्य गतिविधियों से बचना चाहिए।

अनावश्यक यात्रा से बचने और लोगों के बड़े समूहों से दूर रहने से शारीरिक दूरी का अभ्यास करें।

COVID-19 वायरस अलग-अलग लोगों को अलग-अलग तरीके से प्रभावित करता है। COVID-19 एक श्वसन रोग है और अधिकांश संक्रमित लोग हल्के से मध्यम लक्षणों को विकसित करेंगे और विशेष उपचार की आवश्यकता के बिना ठीक हो जाएंगे। जिन लोगों की अंतर्निहित चिकित्सा स्थितियां हैं और 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में गंभीर बीमारी और मृत्यु होने का खतरा अधिक है।

कोरोना वायरस के सामान्य लक्षण

बुखार

थकान

सूखी खाँसी।

अन्य लक्षणों में शामिल हैं:

साँसों की कमी

दर्द एवं पीड़ा

गले में खराश

और बहुत कम लोग दस्त, मतली या बहती नाक की सूचना देंगे।

हल्के लक्षणों वाले लोग जो अन्यथा स्वस्थ हैं, उन्हें परीक्षण और संदर्भ के लिए सलाह के लिए अपने चिकित्सा प्रदाता या सीओवीआईडी -19 सूचना लाइन से संपर्क करना चाहिए।

बुखार, खांसी या सांस लेने में कठिनाई वाले लोगों को अपने डॉक्टर को फोन करना चाहिए और चिकित्सा की तलाश करनी चाहिए।

कोरोनावायरस रोग (COVID-19) को रोकने या उसका इलाज करने के लिए कोई विशिष्ट दवा नहीं है। लोगों को सांस लेने में मदद करने के लिए सहायक देखभाल की आवश्यकता हो सकती है।

स्वयं की देखभाल

यदि आपके पास हल्के लक्षण हैं, तो घर पर तब तक रहें जब तक आप ठीक नहीं हो जाते। आप अपने लक्षणों को दूर कर सकते हैं यदि आप:

आराम करो और सो जाओ

सुरक्षित रखना

बहुत सारे तरल पदार्थ पिएं

एक गले में खराश और खांसी को कम करने में मदद करने के लिए एक कमरे में ह्यूमिडिफायर का उपयोग करें या गर्म स्नान करें

1 thought on “Corona Virus se Bachav ke Tarike In Hindi | कोरोना वायरस से बचाव के तरीके”

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status
error: Content is protected !!